April 11, 2024

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला ने अपनी तीन बेटियों को ज़हर देकर आत्महत्या की कोशिश की

बेलगाम जिले के बैलहोंगल जनता प्लॉट की रहवासी सरस्वती अदृशप्पा हम्पन्नवर जिसकी उम्र करीब 40 साल है, इस महिला ने अपने बच्चों समेत जिला कलेक्टर ऑफिस में ज़हर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की है। अपने बच्चे, 3 साल की सान्वी, 8 साल की साक्षी और 14 साल की सृष्टि को जिला कलेक्टर कार्यालय में इस महिला ने फिनाइल पिलाया है।

सरस्वती पिछले कई सालों से अपने पति और बच्चों के साथ बेल्गाम के अनगोल में किराए के मकान में रह रही थी। अदृशप्पा अनगोल में एक सलून में काम करते थे। कर्ज के बोज तले दबे अदृशप्पा 15 दिन पहले अपनी पत्नी और तीन बेटियों को छोड़कर कहीं चले गए है। दाने दाने को मोहताज हुई सरस्वती ने इसी मामले को लेकर डीसी ऑफिस का रुख किया था । डीसी ऑफिस के कर्मचारी को पूछताछ के दौरान सरस्वती की बड़ी बेटी सृष्टि ने माँ द्वारा किसी जूस को पिलाने की बात कही, उतने मे सरस्वती और तीनों बच्चों को उल्टियां होने लगीं। डीसी ऑफिस कर्मचारी ने फुर्ती दिखाते हुए तुरंत पुलिस की मदद से उन्हे इलाज के लिए जिला अस्पताल रवाना कर दिया। फिलहाल सरस्वती और उनकी तीन बेटियों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। मामला मार्केट पुलिस थाने मे दर्ज कर लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *